CG Board Class 10 Sanskrit solution prayer

CG Board Class 10 Sanskrit solution prayer

CG Board Class 10 Sanskrit अभ्यर्थना

ॐ सह नाववतु सह नौ भुनक्तु सहवीर्यं करवावहै ।
तेजस्वि नावधीतमस्तु मा विद्विषावहै ।। 1 ।।

सङ्गच्छध्वं संवदध्वं सं वो मनांसि जानताम् ।
देवा भागं यथापूर्वे सञ्जानाना उपासते ।। 2।।

गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णुः गुरुर्देवो महेश्वरः ।
गुरुर्साक्षात् परब्रह्म तस्मै श्रीगुरवे नमः ।। 3 ।।

सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः ।
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद् दुःख भाग्भवेत् ।। 4 ।।

भावार्थ:

ईश्वर हम दोनों (आचार्य और शिष्य ) की साथ-साथ रक्षा करें, हम दोनों को (विद्या से) पोषण करें, (हम दोनों) साथ मिलकर (विद्या प्राप्ति का) सामर्थ्य करें, हम दोनों का पढ़ा हुआ (ज्ञान) तेजस्वी हो, (हम दोनों) परस्पर द्वेष न करें ।। 1 ।।

(हे मनुष्यों!) तुम लोग एक साथ मिलकर आगे चलो, आपस में मिलकर बातें करो, तुम्हारे मन एक समान होकर ज्ञान प्राप्त करें, जिस प्रकार पूर्व बुद्धिमान लोग सेवनीय प्रभु को जानते हुए उपासना करते आये हैं (वैसा तुम भी करो ) ।। 21।

गुरु ब्रह्मा है, गुरु विष्णु है, गुरु देव है, गुरु महेश्वर (शिव) है, गुरु साक्षात् परब्रह्म है उस गुरु को नमस्कार है। ।। 3 ।।

सभी सुखी हों, सभी नीरोग हों, सभी कल्याण देखें, कोई दुःख का भागी न हों ।। 4 ।।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top