Karawa Chauth 2022 date: करवा चौथ व्रत 13 अक्टूबर या 14 अक्टूबर जाने किस दिन रखना होगा

Karawa Chauth 2022 date: करवा चौथ व्रत 13 अक्टूबर या 14 अक्टूबर जाने किस दिन रखना होगा

Karawa Chauth 2022 date: करवा चौथ का व्रत सुहागिन स्त्रियां हर साल कार्तिक महीने की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को रखती हैं इस दिन महिलाएं सुबह स्नान करने के व्रत का संकल्प लेती हैं दिन में सामूहिक रूप से करवा चौथ की कथाएं समिति हैं और रात होने पर चांद देखने के बाद पति के साथ अपना उपवास खोलते हैं जिनके पति घर पर नहीं होते हैं वह पति के फोटो को देखकर अपना व्रत खोलती हैं लेकिन इस बार करवा चौथ की तिथि को लेकर बड़ी कन्फ्यूजन की स्थिति बन रही है तेरे को भी चतुर्थी है और 14 अक्टूबर को भी चतुर्थी है तो व्रत किस दिन रखना होगा आइए हम बताते हैं पोस्ट में रखना होगा

हिंदू धर्म में करवा चौथ का विशेष महत्व बताया गया है इस दिन महिलाएं पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं इस व्रत में भी पूरे दिन पानी भी नहीं पीती हैं अर्थात यह व्रत निर्जल व्रत होता है यह व्रत हर साल कार्तिक महीने में कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को रखा जाता है इस दिन महिलाएं सुबह स्नान करती हैं स्नान करने के बाद व्रत करने का संकल्प लेती हैं और पूरे दिन घर के कामकाज में व्यतीत हो जाता है इस दिन ना भूख लगती है ना प्यास लगती है और इस दिन दिन में करवा चौथ की कथाएं भी सुनती हैं और रात को जब चांद निकल आता है तो चांद को जल चढ़ा करके ही अपना उपवास खोलती हैं लेकिन वर्ष 2022 में करवा चौथ 13 तारीख या 14 तारीख मैं लेकर बड़ा कंफ्यूजन है इस साल करवा चौथ की सही तारीख क्या है आइए जानते हैं

कब है करवा चौथ का व्रत करवा चौथ 2022 डेट और टाइम

हिंदू पंचांग के अनुसार करवा चौथ का व्रत कार्तिक महीने की कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को रखा जाता है इस साल कार्तिक महीने की चतुर्थी 13 अक्टूबर को रात 1:59 पर प्रारंभ होगी और 14 अक्टूबर को देर रात 3:08 पर समाप्त होगी उदया तिथि के कारण करवा चौथ का व्रत 13 अक्टूबर को ही रखा जाना उचित रहेगा

करवा चौथ का शुभ मुहूर्त karawa chauth shubh muhurt 2022

इस साल करवा चौथ पर पूजा के लिए कई मुहूर्त बन रहे है । हिंदू पंचांग के अनुसार करवा चौथ के दिन अमृत काल में शाम को 4:08 से लेकर के शाम को 5:50 तक पूजा का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त बन रहा है । इस तरह आपको पूजा के लिए कुल 1 घंटा 42 मिनट का समय मिल रहा है । इसके अलावा एक मुहूर्त सुबह 11:44 से लेकर दोपहर 12:30 तक भी अभिजीत मुहूर्त है इसमें भी पूजा कर सकते हैं इस साल करवा चौथ चंद्रोदय का समय रात 8:09 बताया जा रहा है

करवा चौथ 2022 की पूजन विधि Karawa chsuth 2022 poojan vidhi

करवा चौथ के दिन सुबह स्नान आदि करके व्रत का संकल्प लें इसके बाद पहले हाथ में गंगाजल लेकर भगवान का ध्यान करें जल को किसी गमले में डाल दें इससे पूरे दिन निर्जला उपवास रखा जाता है इस दिन पीली मिट्टी से माता गौरी की मूर्ति बनाई जाती है उन्हें लाल चुनरी बिंदी सुहाग की पूरी सामग्री उस पर रोली चंदन आज अर्पित किया जाता है इसके बाद माता को 8 बोरियों की 58 और हलवे का भोग या खीर का भोग लगाया जाता है इसके बाद दोपहर के समय करवा चौथ के व्रत की कथा सुनते हैं रात को चंद्रोदय के समय चंद्रमा को अरग दें और पति की लंबी उम्र की कामना करें इसके बाद एक चलनी लें उसमें चंद्र दर्शन करें और उसी चल नीचे पति के दर्शन भी करें उपस्थित नहीं है तो पति के फोटो के दर्शन करें आखिर में पति के हाथों से ही जल ग्रहण करें और अपना व्रत खोलें पति घर में होने के बावजूद पति के हाथों से रत्ना खोलना अशुभ माना जाता है इसके बाद साथिया ससुर घर में मौजूद किसी बुजुर्ग महिला के पैर छूकर उनका आशीर्वाद लें और सुहागिन होने की दीर्घायु की कामना करें इसके बाद प्यार से प्रेम पूर्वक पहले पति को भोजन कराएं और पति का झूठा भोजन ही खुद ग्रहण करें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top