शायद 7 फरवरी से खुल जाएंगे स्कूल फिर भी इतने दिन बंद रहेंगे

शायद 7 फरवरी से खुल जाएंगे स्कूल फिर भी इतने दिन बंद रहेंगे

यदि उत्तर प्रदेश में 7 फरवरी से स्कूल खुल जाय तो स्कूल में सब कक्षाओं की ऑफ-लाइन क्लास शुरू हो जाएंगी, लेकिन फिर भी भी फरवरी महीने के कुल बचे 22 दिनों में छुट्टियों के चलते कुल सात दिन फिर स्कूल बंद रहेंगे, अर्थात फरवरी महीने में कुल मिलाकर मात्र 15 दिन ही पढ़ाई होगी बाकी दिन छुट्टियाँ रहेंगी।

पूरा जनवरी का महीना कोरोना के संक्रमण में बीत चुका है और एक भी दिन स्कूल नहीं खुले, फिर भी अब नये आदेशों के मुताबिक 7 फरवरी से स्कूल खुल जाएंगे यानि ऑफ-लाइन कक्षाएँ शुरू हो जाएंगी, लेकिन इसके बाद ही फरवरी के महीने के बचे कुल 22 दिनों में छुट्टियों के चलते कुल सात दिन फिर स्कूल बंद रहेंगे। इसका मतलब है यदि 7 फरवरी से स्कूल खुलता है तो फरवरी में सिर्फ 15 दिन ही पढ़ाई होगी ।

रविवार के अलावा चार छुट्टी और भी

फरवरी महीने में कुल मिलाकर केवल 15 दिन ही ऑफ़लाइन पढ़ाई हो सकेगी, तथा 7 दिनों की छुट्टी रहेगी इन सात दिनों की छुट्टियों में रविवार की भी तीन छुट्टियाँ शामिल हैं, स्कूल खुलने के बाद पहली छुट्टी 15 फरवरी को पड़ रही है, इस दिन हजरत अली का जन्मदिन है, इस दिन प्रदेश में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है।

पहली छुट्टी के वाद अगली छुट्टी 16 फरवरी को गुरु रविदास जयंती की पड़ रही है। फिर अगली छुट्टी 26 फरवरी को महार्षि दयानंद सरस्वती जयंती है । तथा 28 फरवरी को महाशिवरात्रि चौथी छुट्टी है।

तीन रविवार भी शेष है इस महीने में

इसके अलावा 13 फरवरी, 20 फरवरी और 27 फरवरी को रविवार पड़ रहा है, इस दिन तो वैसे भी स्कूल बंन्द ही रहेंगे। वैसे तो फरवरी महीने में 5 तारीख को बसंत पंचमी की छुट्टी है लेकिन इस दिन पहले से ही स्कूल बंद हैं, तो आइये देखते हैं फरवरी में पड़ने वाली बाकी बची छुट्टियों की लिस्ट

फरवरी में पड़ने वाली चार छुट्टियाँ

15 फरवरी – हजरत अली का जन्मदिन

16 फरवरी- गुरु रविदास जयंती

26 फरवरी – महार्षि दयानंद सरस्वती जयंती

28 फरवरी – महाशिवरात्रि

स्कूलों के लिए क्या है गाइडलाइन ऑफलाइन कक्षाओं के लिए

यदि 07 फरवरी से स्कूल खुलते हैं तो भी स्कूलों को उन सभी गाइडलाइन्स का पालन करना अनिवार्य होगा, जो सरकार ने पहले से जारी की गयी है, यहाँ पर आपको बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यूपी सरकार ने पहले ही स्कूलों के लिए गाइडलाइन जारी कर रखी है। उसी गाइडलाइन का पालन करना होगा।

बच्चों के लिए जरूरी नहीं है स्कूल आना

इस गाइडलाइन के अनुसार स्कूल प्रबंधन बिना अभिभावकों की सहमति के किसी भी बच्चे को स्कूल आने के लिए बाध्य नहीं कर सकता है।

स्कूल के अंदर सभी के लिए मास्क जरूरी

कोरोना गाइडलाइन के अनुसार स्कूल परिसर में सभी लोगों को आवश्यक रूप से मास्क पहनना होगा, स्कूलों को विकल्प के तौर पर ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था करानी होगी।

किसी छात्र को लक्षण हो तो तुरंत करें सूचित

अगर स्कूल में किसी को भी जुकाम, बुखार आदि के लक्षण दिखते हैं तो उसे चिकित्सीय सलाह के साथ उनके घर पहुंचाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए, कोई भी आयोजन तब ही किया जाए जब उसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा सकता हो ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top